अग्निपथ योजना के विरोध हरियाणा में प्रदर्शन, भारी पुलिसबल तैनात ! – Republic Hindustan News

Republic Hindustan News

Latest Online Breaking News

अग्निपथ योजना के विरोध हरियाणा में प्रदर्शन, भारी पुलिसबल तैनात !

😊 Please Share This News 😊

हरियाणा

          फरीदाबाद, 16 जून (अरुण शर्मा) केंद्र सरकार द्वारा लाई गई सेना भर्ती को लेकर अग्निपथ योजना को लेकर देश के कई राज्यों में विरोध तेज हो गया है। दिल्ली, यूपी, बिहार, हरियाणा, राजस्थान, और उत्तराखंड में युवा प्रदर्शनकारी सड़क पर उतर आए हैं। हरियाणा के पलवल में योजना के विरोध में युवाओं ने नेशनल हाइवे जाम कर दिया। इसके बाद पुलिस के साथ युवाओं की भिडंत हो गई।गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने डीसी आवास का रास्ता रोक दिया है। इसके अलावा कई जगह तोड़फोड़ करते हुए रेलिंग उखाड़ दी है। तनावपूर्ण हालात को देखते हुए इलाके में पुलिसबल को तैनात किया गया है।सेना में भर्ती के लिए लाई गई नई स्‍कीम अग्‍निपथ स्‍कीम का विरोध पूरे देश में तेज हो गया है। हर‍ियाणा के पलवल के अलावा गुरुग्राम में भी छात्रों ने इस स्‍कीम के ख‍िलाफ जमकर प्रदर्शन किया।

       अग्निपथ स्कीम के विरोध गुरुग्राम में भी हो रहा है। छात्रों ने गुरुग्राम में दिल्ली-जयपुर हाइवे को जाम कर दिया। बिलासपुर थाना क्षेत्र से लगते एनएच 48 को सैकड़ों युवाओं ने जाम कर दिया।

         हरियाणा के रोहतक में तो इस योजना के विरोध में लंबे समय से सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। छात्र ने आज रोहतक के पीजी होस्टल के रूम में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। छात्र का नाम सचिन था। वो जींद जिले के लिजवाना गांव का रहने वाला है। सेना भर्ती की नई पॉलिसी अग्नि पथ लाने से परेशान था। परिजन ने बताया की सेना की भर्ती कैंसिल होने और चार साल की स्कीम वाली अग्निपथ योजना आने से दुखी होकर सचिन ने यह कदम उठाया।

      सेना में भर्ती को लेकर लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में बृहस्पतिवार को रेवाडी में युवा सड़कों पर उतर गए। युवाओं ने पहले सरकुलर रोड पर जाम लगा दिया।
जानकारी के मुताबिक, इस पूरे हुड़दंग में दूसरे जिलों के भी कुछ युवा शामिल थे। पुलिस अब उन तमाम युवाओं की पहचान करने में जुटी है जो इस पूरे हंगामे के सूत्रधार रहे।
पुलिस टीम युवाओं को समझा रही थी कि इस तरह से जाम लगाने से उनपर मुकदमा दर्ज हो सकता है। युवाओं ने पुलिस की एक नहीं सुनी तथा वह पार्क से बाहर निकलकर सड़क पर जाम लगाने के लिए जाने लगे। इस बार पुलिस को सख्त रुख अपनाना पड़ा तथा पुलिस टीम ने उनपर लाठीचार्ज कर दिया। लाठीचार्ज होते ही युवा इधर-उधर भागने लगे।

       इसके साथ ही सेना में भर्ती के लिए होने वाली लिखित परीक्षा में हो रही देरी का भी विरोध हो रहा है. इन दोनों ही मुद्दों को लेकर चरखी दादरी में युवाओं ने सड़क़ों पर उतरकर विरोध किया. इस दौरान युवाओं ने रोड जाम करते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. जिसके चलते वाहनों की लंबी लाइनें लग गई और लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.सैंकड़ों की संख्या में युवाओं ने सेना में नियुक्तियों के नए नियम अग्निपथ को लेकर अपना आक्रोश जताया. सैकड़ों की संख्या में आर्मी कैंडिडेट चरखी दादरी में सडक़ों पर उतर आए और उग्र प्रदर्शन किया. उन्होंने बस स्टैंड के समीप अवरोध डालकर रोड जाम किया और प्रदर्शन कर विरोध जताया. अभ्यर्थियों का कहना है कि सेना भर्ती कार्यालय द्वारा दो साल पहले अभ्यर्थियों का फिजिकल और मेडिकल कराया गया था, लेकिन उसके बाद कभी कोरोना तो कभी कोई और बहाना करके लिखित परीक्षा करवाने में देरी की जा रही है.प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों के समर्थन में विपक्ष पार्टी के नेता भी पहुंचे और सरकार पर आरोप लगाए. युवाओं ने कहा कि उनकी मांग है कि केवल 4 साल के लिए भर्ती करना रोजगार के अधिकार का हनन है. अगर सरकार ने अपना फैसला वापिस नहीं लिया तो बड़े स्तर पर अग्निपथ योजना रद्द करवाने के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे.वहीं रेवाड़ी जिले में भी अग्निपथ योजना के खिलाफ युवा सड़कों पर उतरे।

क्या है अग्निपथ योजना

        मंगलवार को भारत सरकार ने नई भर्ती प्रक्रिया ‘अग्निपथ’ की घोषणा की। आर्मी भर्ती के इस नए प्रोसेस से निकले सैनिकों को ‘अग्निवीर’ कहा जाएगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि सुरक्षा संबंध कैबिनेट समिति ने यह फैसला किया है। उन्‍होंने कहा कि ‘हम अग्निपथ नामक एक योजना ला रहे हैं जो हमारी सेना में परिवर्तनकारी बदलाव कर उन्हें पूरी तरह से आधुनिक और सुसज्जित बनाएगी।’ इसमें पहले साल में जवान को 30 हजार मंथली सैलरी मिलेगी। दूसरे साल 33 हजार, तीसरे साल 36,500 हजार और चौथे साल 40 हजार सैलरी मिलेगी। 4 साल की सेवा पूरी करने के बाद अग्निवीर को कुल 11.71 लाख का एकमुश्त पैकेज मिलेगा।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
error: Content is protected !!