ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर-85 बीपीटीपी में नगर निगम प्रशासन द्वारा बिना किसी सूचना के घरों की दीवार, गेट और फर्श तोड़े। – Republic Hindustan News

Republic Hindustan News

Latest Online Breaking News

ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर-85 बीपीटीपी में नगर निगम प्रशासन द्वारा बिना किसी सूचना के घरों की दीवार, गेट और फर्श तोड़े।

😊 Please Share This News 😊

         फरीदाबाद, 19 जनवरी (अरुण शर्मा)। ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर-85 बीपीटीपी में नगर निगम प्रशासन द्वारा बिना किसी नोटिस व सूचना के घरों की दीवार, गेट और फर्श जबरदस्ती तोड़े जाने को लेकर स्थानीय लोगों में रोष व्याप्त है। आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों एवं पीडि़तों के बुलावे पर आज तिगांव विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक ललित नागर ने मौके पर पहुंचकर निगम द्वारा तोड़ी गई मकानों की दीवारें, मेन गेट, ड्राईव वे, चबूतरे आदि का जायजा लेते हुए इसकी घोर निंदा की। श्री नागर ने कहा कि मनोहर सरकार में अधिकारी पूरी तरह से बेलगाम हो चुके है, जो अदालत के आदेशों की भी अवहेलना कर बिना सूचना के दबंगई तरीके जेसीबी मशीनें व पुलिस बल के साथ तोडफोड़ की कार्यवाही को अंजाम दे जाते है, जबकि यहां तोडफोड़ करके अधिकारियों ने अदालत की अवमानन की है, जिसको लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाकर लोगों को न्याय दिलवाया जाएगा।
पीडि़तों मधु सिंघाल, मोनी रोहिल्ला, राहुल सिंह रोहिल्ला, रूपा अरोड़ा, इंद्रपाल सिंह एवं राजबाला सिंह, रेनू थॉमस एवं जॉबी वालीक्टिटी अकरानंद, हेमलता गोसांई, अभिषेक वर्मा एवं ईरेन जॉन आदि ने पूर्व विधायक ललित नागर को बताया कि नगर निगम की यह कार्यवाही सुशील कुमार के नेतृत्व में भारी पुलिस बल के साऐ में की गई, जो कि पूरी तरह से गलत और आधारहीन है। उन्होंने बताया कि नगर निगम ने यह तोडफोड़ यह कहकर की कि रेवेन्यू रिकार्ड में 11 फुट का रास्ता है, अगर यह 11 फुट का रास्ता था तो कैसे बीपीटीपी कंपनी ने प्लॉट बेचे, कैसे तहसीलदार ने रजिस्ट्री की, कैसे उनके नक्शे पास हुए, कैसे उनको एनओसी मिल गई, कैसे वहां सीवर लाइन और कनेक्शन दे दिए। इतना ही नहीं बल्कि वह अदालत से स्टे भी ले आए थे, जब महिलाओं ने निगम अधिकारियों को स्टे दिखाया तो निगम अधिकारियों ने उन्हें धमकाते हुए इस तानाशाही कार्यवाही को अंजाम दिया। लोगों ने बताया कि निगम की इस कार्यवाही के विरोध में वह मुख्यमंत्री को शिकायत भेजेंगे और मांग की कि जो नुकसान निगम अधिकारी द्वारा उनका किया गया है, उसकी भरपाई की जाए और उक्त अधिकारी को तुरंत निलंबित किया जाए। पूर्व विधायक ललित नागर ने लोगों का दुखड़ा सुनने के बाद उन्हें आश्वासन दिया कि वह उनकी आवाज को पुरजोर तरीके से उठाएंगे और जहां भी लोगों को उनकी जरूरत पड़ेगी, वह उनके हक-हकूक की आवाज उठाने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ेंगे।
इस मौके पर ग्रीन कोंडोमिनिमम वेलफेयर एसो के प्रधान सुरेंद्र सिंह चौहान, वाइस प्रेसीडेंट दीपक चौधरी, जनरल सेक्रेटरी सुमेर सिंह, ज्वाइंट सेक्रेटरी अखिल प्रताप सिंह, तारकेश्वर नाथ सिंह, अजय मित्तल, बलजीत सिंह, विकास पाराशर, अभिषेक आनंद, विजय कुमार दूबे, जितेंद्र राणा आदि मौजूद थे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]

लाइव कैलेंडर

June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
error: Content is protected !!